दिमाग तेज करने का तरीका । How to increase concentration power in hindi - Healthocrat: Your ultimate fitness partner

Thursday, November 1, 2018

दिमाग तेज करने का तरीका । How to increase concentration power in hindi

नमस्कार दोस्तों। क्या आप पढ़ाई में मन नहीं लगा पाते हैं और इससे आपका रिजल्ट ख़राब होता है? अगर आपका जवाब हाँ है तो इस आर्टिकल को ध्यानपूर्वक पढ़ें। इसमें हम आपको दिमाग तेज करने का तरीका बताएँगे जिसकी मदद से आप काम समय से अपने दिमाग को शातिर बना पाएंगे। 


आपने वो कहावत तो सुनी ही होगी की अक्ल बड़ी या भैंस? और ज़्यादातर लोग इस कहावत का जवाब 'अक्ल' कह कर देते हैं। अब आख़िर दें भी क्यों न,अक्ल से बड़ी इस दुनिया में कोई दूसरी चीज़ नहीं है। आदमी अपने अक्ल या दिमाग के बदौलत ही विकसित हो पाया और इस मुकाम पर पहुंच पाया जिस मुकाम पर आज वह है। यह कहना बिलकुल भी गलत नहीं है की दिमाग ही इंसान को बाकी जानवरों से अलग बनाता है। दिमाग के ही ठीक उपयोग से आदमी अपनी ज़िन्दगी में कामयाब हो पाता है। वहीँ, जो लोग इसका सही उपयोग नहीं कर पाते, वे ज़िन्दगी भर कामयाबी की राह के आसपास भी नहीं भटक पाते हैं। लेकिन, दिमाग के सही उपयोग के लिए दिमाग का तेज़ होना भी बेहद ज़रूरी है।


दिमाग तेज करने का तरीका । How to increase concentration power in hindi
दिमाग तेज करने का तरीका 

दिमाग को तेज़ बनाने के लिए हम न जाने कितने तरीके अपनाते हैं। आपने अपने ही घर में आपके पापा या मम्मी ने आपको बादाम या च्वनप्राश खाने की सलाह दी होगी क्यूंकि इनका सीधा असर हमारे दिमाग के कार्य क्षमता पर होता है। लेकिन कई बार लोग एग्जाम में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए अंग्रेजी दवाइयों का भी सेवन करने लगते हैं। इससे उनको कुछ समय के लिए तो बेहतर महसूस ज़रूर होता है, लेकिन बाद में इसके दुष्प्रभाव उनके शरीर पर पड़ने लगते हैं। इन अंग्रेजी मेमोरी बूस्टर्स से सबसे ज़्यादा प्रभावित गुर्दे (kidney) और यकृत (liver) होते हैं। इसलिए, आपको अंग्रेजी दवाइयों पर ज़्यादा निर्भर नहीं होना चाहिए और प्राकृतिक नुस्खों को अपनाना चाहिए। इन नुस्खों से आपके शरीर पर कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ता और परिणाम भी अच्छे देखने को मिलते हैं।

आज हम आपको इस आर्टिकल में दिमाग़ तेज़ करने के कुछ तरीके बताएँगे, जो आपको ज़िन्दगी की दौड़ में कामयाब बनाने में मदद करेंगे।  

दिमाग तेज करने का तरीका

अख़बार के सवालों को करें हल

जब भी आप अख़बार के पन्नो को पलटते होंगे, तो उनमे आपको एक पन्ना ऐसा दिखता होगा जिसमे सुडोकु, क्रॉसवर्ड, फिल फिल इन द ब्लैंक्स, और अंतर ढूंढने वाले गेम्स होते हैं। इन गेम्स को हल करने से आपके दिमाग पर ज़ोर पड़ता है और इससे आपके दिमाग की अच्छी कसरत हो जाती है। ये सवाल आपके दिमाग को तेज करने के लिए बहुत लाभदायक होते हैं। इनको हल करने से आपकी रीजनिंग एबिलिटी भी मज़बूत होती है। तो अगली बार आप जब भी अपना अख़बार खोलें, उसमे दिए गए सवालों को ज़रूर हल करें। कुछ मिनट के इस व्यायाम से आप अपने दिमाग को और भी ज़्यादा शक्तिशाली बना सकते हैं।

दूध और शहद का करें सेवन

दूध कैल्शियम, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स, और वसा का एक अच्छा श्रोत होता है। इससे आपके शरीर को वो सभी ज़रूरी पोषक तत्त्व मिल जाते हैं जो उसे कार्य करने के लिए चाहिए। दूध में शहद डाल कर हर रोज़ पीने से दिमाग की कार्य क्षमता बढ़ती है। इसको नेचुरल मेमोरी बूस्टर माना गया है और इससे ध्यान लगाने की क्षमता भी बढ़ती है। तो अगर आप पढ़ाई करते वक़्त अपना पूरा ध्यान नहीं लगा पा रहे हैं, तो इस तरीके को ज़रूर अपनाएं। आपको फर्क ज़रूर देखने को मिलेगा।

योग से करें दिमाग तेज़

योग हमें वसीयत के तौर पर हमें हमारे पूर्वजों से मिला है। इनके नियमित पालन से कई प्रकार के रोग और अशांति से मुक्ति मिलती है और मन एक जगह पर केंद्रित हो जाता है। हर रोज़ आसन करने से दिमाग को स्थिर किया जा सकता है। इसके अलावा इससे दिमाग केंद्रित भी होने लगता है।

शंतरज है दिमाग़ का एक अच्छा व्यायाम

शतरंज खेलने का एक अलग मज़ा होता है। इसकी दुनिया में आप अपने शरीर के बल से नहीं बल्कि अपने दिमाग के दम पर दुसरो को पराजित कर सकते हैं। रोमांच से भरे इस खेल के फायदे भी बहुत होते हैं। शोधकर्ताओं के अनुसार शतरंज खेलने वालों का दिमाग न खेलने वालों के अपेक्षा ज़्यादा तेज़ काम करता है। इसे खेलने से दिमाग की मांसपेशियां भी मज़बूत होने लगती हैं।

इनके अलावा आदमी के अंदर धैर्य रखने का गुण भी पैदा होने लगता है। तो अगर आप अपना समय व्हाट्सप्प या फेसबुक में व्यतीत करते हैं तो उसके बजाय शतरंज का खेल खेलें। हालाँकि अगर आपको यह खेल खेलना नहीं आता है तो आपको शुरूआती दिनों में यह थोड़ा मुश्किल ज़रूर लगेगा, लेकिन सही से सीखने के बाद आप कुछ ही दिनों में इस खेल के पक्के खिलाड़ी बन जायेंगे। आप इंटरनेट या यूट्यूब की मदद से भी इस खेल को आसानी से सीख सकते हैं।

मछली खाएं, तेज़ बनाएं

आप लोगों मेसे मछली तो बहुत लोगों का पसंदीदा व्यंजन होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं की मछली खाने से दिमाग भी तेज़ होता है? जी हाँ, सही सुना आपने। मछली में ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है जो दिमाग को चुस्त दुरुस्त रखने में मदद करता है। इस फैटी एसिड की और भी कई खासियत होती हैं। कई खासियतों में से एक मुख्य खासियत यह है की इससे आँखों की रौशनी भी बढ़ती है। तो अगर आप मछली का नियमित रूप से सेवन करते हैं तो दिमाग तेज़ होने के साथ साथ आपकी नज़रें भी तेज़ होंगी। पर याद रहे की बच्चों को एक हफ्ते में एक बार ही मछली खिलाना उचित माना गया है। अगर आप मछली से होने वाले फायदों के बारे में विस्तार में जानना चाहते हैं, तो इस लिंक पर क्लिक करें: मछली खाने के फायदे

व्यायाम और खेल-कूद से होता है दिमाग का विकास

खेल-कूद और व्यायाम शरीर के लिए बहुत आवश्यक होते हैं। ये शरीर को फुर्तीला बनाते हैं और साथ में दिमाग के विकास के लिए भी लाभदायक होते हैं। हालाँकि, लोगों में एक धारणा यह होती है की खेलने-कूदने से पढ़ाई में मन नहीं लगता और इस बात का यकीन दिलाने के लिए वे लोग अक्सर पुरानी कहावतों का सहारा लेते हैं। 'पढ़ोगे-लिखोगे बनोगे नवाब, खेलोगे-कूदोगे बनोगे ख़राब' - ये एक ऐसी कहावत है जो अक्सर बच्चों को बोली जाती है। लेकिन यह सोच बिलकुल गलत है।

व्यायाम और खेल-कूद करने से याद करने की क्षमता बढ़ जाती है। दुनिया भर के कई वैज्ञानिकों से शोध से यह साबित किया है की जो लोग पढ़ाई के साथ-साथ व्यायाम और खेल-कूद को अपने दिनचर्या में शामिल करते हैं, उनका दिमाग सिर्फ पढ़ाई करने वालों की अपेक्षा तेज़ और बेहतर काम करता है। तो अगर आप सारा दिन एक जगह पर बैठ कर पढ़ाई करते हैं, तो अपना थोड़ा समय व्यायाम और खेल-कूद को भी दें। आप कुछ दिनों से फर्क महसूस करने लगेंगे।

दिमाग तेज़ करने के लिए करें तुलसी का उपयोग

तुलसी का प्रयोग तो हर घर में होता है। कभी पूजा में, तो कभी चाय में, तुलसी के अनेक गुणों की वजह से ही इस पौधे को इतनी अहमियत दी जाती है। तुलसी में कई एंटी-ऑक्सिडेंट्स होते हैं जो बिमारियों से लड़ने में हमारी मदद करते हैं। इसके अलावा अगर आप तुलसी का नियमित रूप से सेवन करते हैं तो इससे आपके हृदय और दिमाग के बीच रक्त संचार भी सुधरने लगता है। तुलसी का उपयोग आप गुर्दे में से पथरी निकलने के लिए भी कर सकते हैं।

नींद पूरी करना है अति आवश्यक

आजकल की ज़िन्दगी में भागदौड़ और स्ट्रेस काफी हद तक बढ़ गया है। लोग अपने कामों में इतना व्यस्त रहने लगे हैं की वे अक्सर अपनी नींद भी पूरी नहीं करते। यह समस्या सबसे ज़्यादा आजकल के युवाओं में देखने को मिलती है। फेसबुक, व्हाट्सप्प और इंस्टाग्राम जैसी ढेरों सोशल नेटवर्किंग साइट्स की वजह से ज़्यादातर लोग देर रात तक मोबाइल या कंप्यूटर में अपना समय व्यतीत करते हैं और नींद के साथ समझौता करते हैं। अगर आप अपने दिमाग को तेज़ करना चाहते हैं तो सबसे पहले अपने दिनचर्या में परिवर्तन लाएं। समय से सोएं और समय से उठें। कोशिश यह करें की आप हर रोज़ कम से कम 7 घंटे की नींद ज़रूर लें। इससे आपका दिमाग शांत रहेगा और तनाव भी दूर रहेगा। पूरी नींद न लेने से डिप्रेशन जैसी समस्याएं भी पैदा हो सकती हैं।

संतुलित आहार ही खाएं

जंक फ़ूड में अधिक मात्रा में तेल-मसाला होता है और इससे शरीर पर बहुत तरह के दुष्प्रभाव भी पड़ते हैं। वहीँ, संतुलित आहार में सभी ज़रूरी पोषक तत्त्व होते हैं। हर रोज़ संतुलित आहार ही खाएं। इससे शरीर के रक्त संचार में सुधार होगा और दिमाग तक खून आसानी से पहुंचने लगेगा। इसके साथ-साथ संतुलित आहार खा कर शरीर को कई बीमारियों से लड़ने में भी मदद मिलती है। हर रोज़ च्यवनप्राश और बादाम-अखरोट का सेवन भी दिमाग तेज करने के लिए कारगर माने जाता है।

आंवले का करें सेवन

यह एक ऐसा दिमाग तेज करने का तरीका है, जो किफायती होने के साथ-साथ काफी असरदार भी है। आंवले में कई ज़रूरी पोषक तत्त्व जैसे विटामिन C, आयरन और विटामिन A होते हैं जो कई बिमारियों को दूर रखते हैं। यदि आप दिमाग तेज करना चाहते हैं तो 1 चम्मच आंवले के रस को 2 चम्मच शहद के साथ मिलकर पिएं। कुछ ही दिनों में फर्क आने लगेगा।


तो दोस्तों, ये था दिमाग तेज करने का तरीका जिसकी मदद से आप अपने दिमाग को तेज़ कर सकते हैं। अंत में मैं यही सलाह दूंगा की बेहतर परिणाम के लिए बताई गयी बातों का नियमित रूप से पालन करें और मेमोरी बूस्टर्स और दिमाग तेज करने की अंग्रेजी दवाइयों से सावधान रहे। ऐसी दवाइयां खरीदने से पहले किसी अच्छे डॉक्टर की सलाह ज़रूर लें।


हम उम्मीद करते हैं की आपको हमारे आर्टिकल 'दिमाग तेज करने का तरीका । How to increase concentration power in hindi' से कोई मदद तो ज़रूर मिली होगी। अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने परिवार के सदस्यों और दोस्तों ज़रूर शेयर करें ताकि वे लोग भी दिमाग तेज करने का तरीका जान सकें।


अपनी बातें हम तक कमेंट बॉक्स के ज़रिये ज़रूर पहुचाएं।


धन्यवाद्।

No comments:

Post a Comment